नगर सेना

द्वितीय विष्वयुद्ध के दौरान आक्रमण का खतरा होने पर मई 1940 मे गृह रक्षक यूके में गठित किया गया था । मूलरूप से इसे एलडीवी (स्थानीय रक्षा स्वयंसेवक) का नाम दिया गया था , अगस्त 1940 में विंस्टन चर्चिल ने एलडीवी का नाम होम गार्ड में बदल दिया, क्योकि यह अधिक देषभक्ति और पे्ररक था ।

भारत में इसे मूल रूप से दंगो से निपटने और गंभीर कानून व्यवस्था की समस्याओं को संभालने के लिए 06 दिसंबर 1946 को बम्बई (वर्तमान मुम्बई) में होमगार्ड की स्थापना की गई। देष के सबसे बड़े स्वयं सेवी संगठन के रूप में होमगार्ड की स्थापना सन 1947 मे सी.पी. एण्ड बरार नगर सेना अधिनियम 1947 के तहत की गई । 1956 में राज्यो के पुर्नगठन के बाद इसे मध्यप्रदेष होमगार्ड के नाम से जाना जाने लगा ।

01 नवम्बर 2000 को छत्तीसगढ नया राज्य बना एवं सी.पी. एण्ड बरार नगर सेना अधिनियम 1947 को अपनाया । वर्तमान में राज्य के 27 जिलो में नगर सेना की 63 कंपनी तैनात है, इसका मुख्य उद्देष्य लोकसभा ,विधानसभा चुनाव डियुटी, आपदा प्रबंधन व पुलिस बल को कानून व्यवस्था बनाए रखने मे मदद करना है।